इन 7 आसान तरीके से app kaise banaye

आज का हमारा मुख्आया बिसाय है app kaise banaye . आज  कल मोबाइल आप का मार्किट बोहोत तेजी से बढ़ रहा है । किउ की आज हर जगह degitalize हो गया है । और हम अभी एक मोबाइल आप से सब कुछ कर शक्ते है। इसलिए हम सब अभी degital तकनीक पर निर्भर है । 2017 में STORISTA  के किए गए एक सर्वे के अनुशार 178 मिलियन आप डौन्लोड किए गए थे ,और यह संख्या २०२२ तक 258 बिलियन तक पूंछने बाला है , स्पस्ट रूप से कहु तो अभी मार्केट में APP का बहोत Compition है ।

लेकिन app बनाना आसान नहीं हे , मोबाइल एप्लीकेशन बनाने में टाइम लगता है , और ये आमदौर पर मेहेंगा भी है , आकषर लोगो ने बिना सोचे हुए बिना रिसर्च किए सीधे पानी में गोते लगाने की गलती करते है , एक सफल आप बनाने के लिए कुछ आबश्यक स्टेप्स होते है , तो चलो जानते है app kaise banaye ?

1:- App kaise banaye भाग 1

अपने सोचे हुए प्लान को पेपर पर लिखे :- आपका APP बनाने का फर्स्ट स्टेप्स अपने ओछे हुए प्लान को अपने APP पर कैसे उतारे या फिक्स करना होगा ।

किसी टॉपिक पर App kaise banaye

App की बिसय निर्धारित करते वक्त किस किस बिसयो पे ध्यान दे ? मेने कुछ सवाल निचे दिए है जो आप पहले आप को सोचना होगा , नहीं तो इसके बिना आपका सारे मेहनत पानी में चला जाएगा ।

1:- आपका टारगेट यूजर कौन है ? किस के लिए आप ये अप्प बना रहे हो , ( क्या आपका अप्प उस उसेर्स के लिए कुछ वैल्यू प्रोवाइड कर रहा हे ? )
2:-  कौन से सुबिधा आपके उसेर्स के लिए इच्छापूर्ति कर रहा हे ? और क्या वो आपके उसेर्स को ब्यस्त रखने में मदद करेगी ?
3:-  अपने कॉम्पिटिटर से क्या आप ज्यादा सुबिधा प्रदान कर रहे हो ?( अगर नहीं तो आपको कुछ तो अधिक करना होगा )

 

एक प्रोटोटाइप App banaye:-

आप एक एप्लीकेशन के desine बनाने के लिए उनके तथ्यों और सैलियो के साथ काम करना सुरु करने से पहले अपने इंटरफ़ेस के आबश्यक भागो पर ध्यान केंद्रित करे । ऐसा करने से अप्प के प्रमुख चीज़ो को रखना और उनको उपयोगकर्ता को सुलभ बनाना आसान हो जाएगा ।

UI (user interface) Designe :- यूजर इंटरफ़ेस आपके app के लुक और APP के सफलता में मुख्य भूमिका निभाता है , इसलिए आपका APP का यूजर इंटरफ़ेस एक दम सरल और सहज होना चाहिए , ताकि आपके उपयोगकर्ता को जायदा सुबिधा मेहसूस हो , और एप्लीकेशन को समझने  में कम मेहनत लगे । ये चीज़ आपके app में  उनके रूचि बढाता है और आपके app से दूर रहेना उनके लिए मुस्किल होगा ।

app kaise banaye

App kaise banaye भाग 2:- अपने  तकनीक चुने और app kaise banaye ?

Native App 500 अप्प से जब 10 साल पहले प्लेस्टोरे के सुरुआत हुआ था तब से आज तक 20 मिलियन से जायदा अप्प अभी प्लेस्टोरे पे मौजूद है । 2022 तक इसे । 2.4 million करना का प्लेस्टोरे का लक्ष है। नेटिव अप्प उसे कहलाते हे जिसे अप्प स्टोर के माध्यम से डौन्लोड करके उपयोग करना पड़ता है ।

मोबाइल के लिए जितने भी अप्प है उनमे से 80% नेटिव अप्प है । एंड्राइड में और ios में नेटिव तकनीक सबसे आगे है । किउ की इस तरह से मोबाइल APP हाई क्वालिटी और सुरक्षित ,साथ ही साथ इसमें त्रुटि बोहोत कम रहता है ।

Prograssive web app :- या टेक्नोलॉजी वेब टेक्नोलॉजी और नेटिव टेक्नोलॉजी का मिश्रित रूप है । ये देखने मैनेटिव अप्प्प के तरह दीखता है। मगर जब आप इसे ब्यबहार करते हो आप सीधा उनका वेब पेज को डाइवर्ट हो जाते हो ।जैसे आपने कभी कभी देखा होगा जब हुमकिसी वेबसाइट को विसिट करते है तो निचे लिखे हुए आता है ।जब आप yes पर क्लिक करते हो वो आपके होम स्क्रीन पर ऐड हो जाता है ।

1:- इसे उसे करने के लिए किसी वेब स्टोर के मदद लेना नहीं पड़ता है , और ऐसे डौन्लोड करने क व् जरूरत नहीं पड़ता
2:- नेटिव अप्प के तुलना मै पवा अप्प ३ गुना अधिक विजिटर हे लेकिन फैसिलिटी के उतने उपलब्ध के कारन लोग इसे अधिक ब्यबहरार नहीं करते

App kaise banaye भाग 3:- उपलब्ध बिकल्प का उपयोग करके App kaise banaye 

अब आप कोनसी तकनीक में अप्प बनाने बाले है ये चुन चुके है , तो जानते है अब बिभिन्न माध्यम का उपयोग करके app kaise banaye

खुद App Kaise Banaye  :- कूद अप्प्प बनाने के लिए अपने को जायदा समय का जरूरत होता है। और हमें APP बनाने का तकनीक के साथ साथ Coding भी आना चाहिए , एप्पल का कोई APP डेवलोपमेन्ट करने के लिए हमें OBJECTIVE-C और SWIFT जैसे CODING भासाओ का आना जरुरी है बात करे एंड्राइड APP के तो KOTIN और JAVA जैसे CODING भासाओ का आना नितांत आबस्यक है । अगर आपको ये सब CODING भासाओ का ज्ञान है तो आप बिना देरी किए APP बनाने का काम सुरु कर शकते हो ।

Freelencer और App devlopement जैसे कंपनी से app kaise banaye :-  

बाजार मै APP डेवलोपमेन्ट कंपनी और Freelencer डेवलपर का कमी नहीं है , इनको आप गूगल सर्च के माध्यम से ढूंढ कर अपने काम दे शकते हो ।
दरअसल , खुद का App बनाने के लिए किसी एजेंसी और ब्यक्ति को निजुक्त करना थोड़ा मेहेंगा है । यदि आपके पास इनसारे चीज़ो कालिए पर्याप्त धन है तो आप इन उपायों से आपका App devlope करा शकते हो ।

APP builder का उपयोग करके app kaise banaye :- 

इस पद्धति में बिना कोई कोडन के मदद से आप अच्छे से अच्छे App बना शकते हो , इस के लिए बाजार में कई सारि App builder उपलब्ध है । जिसके मदद से आप अलग अलग स्टोर के लिए एक हाई क्वालिटी App बना शकते हो ,हलाकि आप इसमे  सभी प्रकार के App नहीं बना शकते हो । इसके भी कुछ लिमिटिशन हे । जिसके अंदर रहकर आपको काम करना होगा ।

App kaise banaye भाग 4:- अपने APP का टेस्ट करे ।

एप्लीकेशन बनाने का सारे काम जैसे Concept , Design , ख़तम होने के बाद अभी ये App  का प्रकाशन का सबाल आपके दिमाग में आता है । मगर प्रकाशन के आगे एक माध्यम से इसे गुजरना होगा , जिसे हम App Testing कहेते है।

App Testing में आपको ये देखना होगा की आप के अप्प में सब कुछ सही तरीके से सम्पादित हो रहा हे की नहीं ।और आपने जितने  भी वर्शन का प्लानिग किआ हे वो सब आपको चेक करना पड़ेगा  ।अलग अलग OS(Operating system) में वो कैसा परफॉरमेंस कर रहा है ,कितने तेजी से उपेन हो रहा है ।लो नेटवर्क कनेक्टिविटी में कितना कार्यख्यम है , ये सब चेक करना पड़ता है ।

 

Overall क्या क्या टेस्ट करना पड़ता है 

  • लो नेटवर्क कनेक्टिविटी में आपका APP कैसा चल रहा है  ?
  • सारी इंटरफ़ेस , फंक्शन सही से चल रहा है की नही ?
  • आपने जैसे अप्प का प्लानिग किआ था वेसे होना चाहिए ।
  • अपने APP में नाम और डिस्क्रिप्शन सही से लिखो ।

Note IOS में App को टेस्ट करने के लिए एप्पल की तरफ से Test flight नाम का एक टूल उपलब्ध किआ जाता है । फिर उस टूल के मदद से आप के App को जाँच करके आप App store में अपनी App अपलोड कर शकते हो ।

App kaise banaye भाग 5:- APP का Publishication  कैसे करे ?

एक बार आपके App सब माध्यम से तैयार हो जाने के बाद , अब App का प्रकासीत करना का समाय आ गया है । जितना हो सके उतना प्लेटफार्म पे अपने App को प्रकाशित करे । किउ की ये आपको अधिक से अधिक उपयोगकर्ता तक पहुँचने में मदद करता है । जब आप App को प्रकाशित करेंगे , तब आपको एक डेवलपर के रूप में अलग अलग App Store में पंजीकरण करना पड़ेगा । आपके लिए पंजीकरण का प्रक्रिया थोड़ा जटिल हो शकता है । कैसे पंजीकरण करके अपने अप्प को बिभिन्न प्लेटफार्म पे उपलब्ध कराये ये हमने निचे बिस्तार रूप से बताया हुआ है ।

Devloper account बनाना :-  ये दोनों मँच Android और IOS पे करना पड़ता है । इसके बिना अप्पप उनके अप्प स्टोर पे UPLOAD नहीं कर शकते । इसके लिए आपको devloper अकाउंट के लिए बर्सिक सदस्यता लेना पड़ता है । जिसकी मूल्य दोनों में अलग अलग हे ।

app kaise banaye

 

Apple अप्प स्टोर के लिए –  

सप्प स्टोर के लिए एप्लीकेशन जमा करने की प्रक्रिया थोडा मुस्किल हो जाती  है । किउ की अप्प स्टोर की सुरक्षित बाताबरण बनाये रखने के लिए apple स्टोर ने शक्त मानकों और दिसानिर्देश जरी किआ है । जो अपने उपयोगकर्ता को केबल उच्च गुनबर्ता वाले App देता  है ।

अप्प को मुन्जारी देने से पहेले प्रतेक पहेलु का समीक्षा करता है । आपके अप्प समिट करने से पहेले आपको अपना app का icon, screenshort, preview, description , category , ये सब अच्छे से देने पड़ते है ।

Apple store में प्रकासन 

App के रिव्यु प्रक्रिया में कुछ दिन लग शकता है । जब आपका app रिव्यु में से होके पब्लिश हो जायेगा तब आपको ईमेल के जरिये  से आपको बता दिया जायगा । अगर आपका app उनका रिव्यु में pass नहीं हो पाया , तो आप उनके Resolution center को संपर्क करके  App का रिव्यु  में पास न होने का कारण जान शकते है । और आपके अप्पप में और सुधारकर शकते है  ।

Google Playstore में प्रकासन 

पहेले आपको  Google Playstore पर अपना सारी जानकारी देना होगा ।जैसे आपके app का icon, screenshort, preview, description , category ,   की सारी जानकारी बिस्तृत में देना होगा , एक बार ये सब पुरे होने के बाद यहाँ आपको apk फाइल को अपलोड करने को पडेगा, फिर app रिव्यु यूनिट पे  चला जायेगा ।

हलाकि अभी google ने घोसना में कहा है की उनके देव्लोपेर्स के द्वारा अप्प के र्रेविएव में अधिक समय लिया जायेगा ।

भाग 6:- app में निरंतर अध्ययन  और सुधार 

  • Google app store द्वारा उपलब्ध analytics टूल का उपयोग करके अपने app के feedbake  और kpi (key performance indicator) पर नज़र रखे ।
  • हमेसा अपने app में नये नये  बिसेसता को जोड़ना चाहिए ।
  • App में ऐसे नये नये फ्यूचर को जोड़ के उपयोगकर्ता को उपलब्ध कराके आपके app में ब्यस्त रखना ,आपके लिए उपयोगी साबित हो शकता है ।
  • आप जितने बार चाहो अपने app को playstore में अपडेट कर शकते हो । हालाकी कुछ मामलो में बड़े बदलाब के लिए अप्प का न्यू वर्शन लाना पड़ता है ।

Conclusion :-  अब आपको अपने सवाल App kaise banaye का जवाब तो मिल गया होगा ।  आप इन सभी मुख्य बातो को ध्यान में रखते हुए app बनायेंगे तो आपको जरुर सफलता मिलेगी । अगर सपको हमारी जानकारी अच्छा लगा हो तो कमेन्ट में जरुर बताये और कुछ doubt आपके मन में रह गया हो तो वो भी आप हमे कमेंट के माधयम से बताये । हम उसे जरुर पूरा करने की कोसिस करेंगे ।

Leave a Comment